हरतालिका व्रत में भूलकर भी न करें ये गलतियां, जाने पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

पंचाग के अनुसार हरतालिका तीज का व्रत भाद्रपद मास (Bhadrapad Month) की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को किया जाता है. इस बार ये व्रत 9 सितंबर, गुरुवार को है. इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है. महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और सुख समृद्धि के लिए ये व्रत रखती हैं. वहीं कुंवारी कन्याएं मन चाहा वर पाने के लिए ये व्रत रखती हैं. अगर आप हरतालिका तीज का व्रत पहली बार रख रही हैं तो इसके कुछ नियमों का पालन करना जरूरी है. इस व्रत में की गई गलतियों की सजा अगले जन्म में भोगने को मिलती हैं. आइए डालते हैं एक नजर…

इन बातों का रखें ध्‍यान

हरतालिका तीज का व्रत (Hartalika Teej Vrat) बहुत और बहुत ही संयमी कहलाता है। इस व्रत को लेकर कुछ खास नियम होते हैं। जो हर व्रत रखने वाली महिला को मानने चाहिए। इस दिन महिलाएं निर्जला व्रत करके अपने पति की दीर्घायु के लिए कामना करती हैं। मगर कुछ महिलाओं से अज्ञानता के कारण कुछ गलतियां हो जाती हैं। हम आपको कुछ ऐसी बातें बता रहे हैं जिनका आपको ध्‍यान रखना चाहिए।

क्रोध से खुद को रखें दूर

व्रत रखने वाली महिलाओं को खुद पर बेहद संयम रखने की जरूरत होती है। आपको किसी भी हाल में खुद को क्रोध से दूर रखना चाहिए। माना जाता है कि व्रत करने वाली महिलाओं को क्रोध नहीं करना चाहिए। इसके पीछे धार्मिक और वैज्ञानिक दोनों ही कारण माने जाते हैं। व्रत रखने से शरीर कमजोर हो जाता है। इसलिए क्रोध करने से शरीर में परेशानी बढ़ सकती है।

रात में सोना सही नहीं

माना जाता है कि व्रत रखने वाली महिलाओं को रात में सोना नहीं चाहिए। ऐसा करना व्रत में सही नहीं माना जाता है। इसलिए आस-पड़ोस की जो महिलाएं व्रत रखती हैं उन सबको मिलकर भगवान के भजन करने चाहिए और कीर्तन करना चाहिए।

भूलकर भी न करें ऐसा

वैसे तो आपको हमेशा ही बुजुर्गों का खास ध्‍यान रखना चाहिए और उनका सम्‍मान करना चाहिए। मगर हरतालिका तीज (Hartalika Teej) के दिन इस बात का खास ख्‍याल रखना चाहिए कि भूलकर भी अपने से किसी बड़े या फिर छोटे से अपशब्‍द नहीं बोलना चाहिए। अगर आपको किसी की कोई बात गलत भी लगे तो इसे इग्‍नोर कर देना चाहिए।

इस चीज का न करें सेवन

हरतालिका तीज (Hartalika Teej) का व्रत निर्जला रखा जाता है कि अगर कोई महिला गलती से भी दिन इस दिन दूध का सेवन कर लेती है तो पुराणों में बताया गया है कि अगले जन्‍म में उसे सर्प योनि में जन्‍म मिलता है। वहीं अगर कोई महिला पानी पी लेती है तो अगले जन्‍म में उसे मछली का जन्‍म मिलता है।

पति के साथ न करें ऐसा

व्रत रखने वाली महिलाओं का भूलकर भी ऐसा नहीं करना चाहिए कि पति से किसी बात पर झगड़ा हो। जहां तक हो सके व्रत रखकर विवाद की बातों को तूल नहीं देनी चाहिए। अगर किसी पर आपका मूड बिगड़े भी जो उसे संभाल लेना चाहिए और बाद में मिलबैठकर बात करके प्‍यार से सुलझा लेना चाहिए।

About rongerwev

Check Also

तुलसी का पौधा कैसे आपका भाग्य बदल सकता है – जाने

धार्मिक ग्रंथों के अनुसार नियमित रूप से तुलसी की पूजा करने से मोक्ष की प्राप्ति …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *