हर समस्या दूर करेंगे हल्दी के ये आसन उपाय जाने

सनातन धर्म में कोई भी शुभ कार्य बिना हल्दी {Haldi }के संपन नहीं होता हैं। धार्मिक कार्यक्रमों में हल्दी {turmeric } का विशेष महत्व माना गया हैं। हम सभी के घर में बेहद सरलता से प्राप्त हो जानें वाली हल्दी ना केवल हमारे भोजन को स्वादिष्ट बनाती हैं बल्कि हमारा भाग्य में भी चमक ला सकती हैं। गौरतलब हैं कि कि हल्दी में कई प्रकार के औषधीय गुण पाए जातें है जिससे हमारा स्वास्थ्य अच्छा बना रहता हैं लेकिन ज्योतिष शास्त्र {Astrology } के जानकारों की मानें तो हमारे जिंदगी {life }की बहुत सी समस्या को भी खत्म कर सकती हैं यह औषधीय गुण रखने वाली हल्दी।ऐसा माना जाता हैं कि यह पीली रंग की जड़ी बूटी अर्थात हल्दी में कई प्रकार के दैवीय गुण पाए जातें हैं , आपने अक्सर देखा होगा कि शादी विवाह के कार्यक्रम में भी हल्दी का एक महत्वपूर्ण स्थान होता हैं। इसके साथ ही हल्दी को देवताओं के गुरु माने जाने वाले बृहस्पति देव से भी जोड़ कर देखा जाता हैं।
हल्दी के प्रयोग से हम अपने आस पास नकारत्मक ऊर्जा {negative energy } को समाप्त कर सकते हैं। ज्योतिष के अनुसार हल्दी ना केवल मंगलकारी कार्यों में उपयोग में लाई जाती हैं बल्कि हल्दी के उपयोग से हमारे जीवन के कष्ट भी दूर हो जाते हैं। आइए समझतें हैं कि किस प्रकार हल्दी हमारे भोजन के साथ साथ हमारे जीवन में भी नया स्वाद लाती हैं। हमारे जीवन में सुख दुःख का आना जाना लगा रहता हैं ,ऐसे में हमारा यहीं प्रयास होता हैं कि जीवन में आई कठिनाईओं को किस प्रकार हम कम कर सकें। कुछ ऐसे ही उपाय बताए गए है हमारे ज्योतिष शास्त्र में हल्दी से सबंधित , आइए इस लेख के माध्यम से जानतें हैं हल्दी के ज्योतिषिय महत्व के विषय में :

देखिए अपनी जन्म कुंडली, जानिए अपना भाग्य और कीजिए सफलता की तैयारी

पुखराज के समान हैं हल्दी :

ज्योतिष के विद्वानों के अनुसार ऐसा कहा जाता हैं कि अगर किसी व्यक्ति के कुंडली में गुरु ग्रह कमज़ोर हो तो उपाय के रूप में हल्दी बहुत प्रभावी होती हैं। हल्दी का गहरा रिश्ता माना जाता हैं बृहस्पति के साथ, इसलिए कुंडली में बृहस्पति ग्रह की स्थिति मज़बूत करने के लिए कहा जाता हैं कि हल्दी को एक पीले कपड़े में बांध कर गाँठ लगा कर उसे बाजु पर बांधने से पुखराज के धारण करने जितना फल मिलता हैं। हल्दी को बाजू पर धारण करने से करियर,शिक्षा सबंधी समस्या समाप्त हो जातीं हैं।

वास्तु दोष का निवारण करती हैं हल्दी :

अगर ज्योतिष आपको बताएं की आपके घर में वास्तु दोष हैं तो घबराए नहीं क्यूंकि इसका उपाय आपके रसोईघर में ही हैं। जानकारों की मानें तो घर में वास्तु दोष होने पर घर के सभी कोने में चुटकी भर हल्दी का छिड़काव करें तथा इसके साथ ही घर के मुख्य द्वार पर हल्दी की रेखा बनाकर बाउंड्री बना दें , इससे नकारात्मक ऊर्जा ख़त्म हो जायेगी और घर में सकारात्मक ऊर्जा {positive vibes } का प्रवाह होता हैं । इस उपाय को करने से ना केवल घर का वास्तु दोष दूर होगा बल्कि घर के सभी सदस्यों की सेहत भी अच्छी बनी रहेगी।

नौकरी की समस्या होगी दूर :

जब किसी व्यक्ति का गुरु ग्रह कमज़ोर होता है तो सबसे पहले दिक्कत उन्हें नौकरी से सबंधित ही होती हैं। ऐसे में ज्योतिषाचार्य कहतें हैं कि अगर व्यक्ति अपने नहाने के जल में हल्दी मिलाकर नहाए तथा कहीं बाहर जाने से पूर्व हल्दी का तिलक करके निकलें तो अवश्य ही करियर सबंधी बाधा खत्म हो जाएगी। इसके साथ ही अगर किसी जरुरत मंद को गुरुवार के दिन पीली वस्तुयें या फिर किताबों का दान किया जाए तो इससे भी जीवन में बृहस्पति की स्तिथि मजबूत होती हैं तथा जातक को लाभ मिलता हैं।

हल्दी का उपयोग आज से सदियों पूर्व वैदिक काल से ही होता आ रहा हैं। भगवान श्री हरि और बृहस्पति देव की पूजा,दोनों ही गुरुवार को की जातीं हैं , इनके पूजा में भी हल्दी का प्रयोग करना आवश्यक माना गया हैं , ऐसी मान्यता हैं कि सिर्फ गुरूवार को ही नहीं अपितु हर दिन नियमित रूप से भगवान विष्णु और बृहस्पति देव की पूजा अर्चना में हल्दी चन्दन का प्रयोग करना चाहिए तथा उनके पूजन के बाद वो तिलक अपने माथे पर भी जरूर लगाएं। ऐसा करने से जीवन में रुके हुए कार्य भी सम्पन होंगे तथा सफलता अवश्य मिलेगी।

About rongerwev

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *