जब ITBP के सहायक कमांडेंट बेटी को इंस्पेक्टर पिता ने किया सलाम, देखें तस्वीरें

भारत-चीन वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर सुरक्षा के लिए तैनात इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) बल ने रविवार को मसूरी में प्रशिक्षण पूरा करने के बाद अपनी पहली दो महिला अधिकारियों को युद्धक भूमिकाओं में शामिल किया. यह मौका एक पिता के लिए खास बन गया. दरअसल, ITBP में इंस्पेक्टर पद पर तैनात कमलेश कुमार की बेटी दीक्षा ने ITBP में सहायक कमांडेंट के पद पर ज्वाइन किया है.

दीक्षा के पासिंग आउट परेड के मौके पर उनके पिता भी मौजूद थे. आईटीबीपी ने जो तस्वीरें साझा की है उसमें #Himveers के साथ लिखा है.”गर्व से बेटी को सलाम दीक्षा ने ITBP में सहायक कमांडेंट के पद पर ज्वाइन किया है.

आईटीबीपी में इंस्पेक्टर पद पर तैनात उनके पिता कमलेश कुमार ने मसूरी स्थित आईटीबीपी अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी में पासिंग आउट परेड के मौके पर उन्हें सलाम किया” दीक्षा ने कहा कि मैं पिता को रोल मॉडल मानती हूं. वहीं उनके पिता ने कहा कि मैंने कभी सोचा नहीं था कि मेरी बेटी आईटीबीपी में आएगी. लेकिन परिस्थितियां बनी तो आ गई. मैंने तैयारियां की. बता दें कि पासिंग आउट परेड के बाद मसूरी स्थित आईटीबीपी अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी से कुल 53 अधिकारी उत्तीर्ण हुए. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी शामिल हुए थे.

आईटीबीपी ने संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित अखिल भारतीय परीक्षा के माध्यम से 2016 से अपने काडर में महिला लड़ाकू अधिकारियों की भर्ती शुरू की. इससे पहले यह केवल कांस्टेबल रैंकों में महिलाओं की भर्ती करता था. कुल 53 अधिकारियों में से 42 अधिकारी सामान्य ड्यूटी युद्धक काडर में हैं, जबकि 11 अधिकारी लगभग 90,000 कर्मियों वाले मजबूत पर्वतीय युद्ध प्रशिक्षण बल के इंजीनियरिंग काडर में हैं. इन अधिकारियों को अब चीन के साथ लगी एलएसी और छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान सहित देश में आईटीबीपी की सभी इकाइयों में तैनात किया जाएगा.

About Daisy

Check Also

नमक के ये 5 सीधे नुस्खे बदल सकते हैं आपकी किस्मत जाने

बात चाहे गृह कलेश की हो या फिर पैसों की तंगी नमक के ये खास …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *