आखिर क्यों बांधते हैं हाथ में काला धागा, जानें इससे जुड़ीं मान्यताएं

दुनिया में धर्म और अंधविश्वास एक दूसरे के पूरक की तरह हैं। दोनों ही एक दूसरे के बिना अधूरे हैं। जो लोग धर्म को मानते हैं उनके लिए वह विश्वास का प्रतीक होता है। वहीं जो धर्म नहीं मानते हैं वह हर चीज को अंधविश्वास की तरह मानते हैं। अक्सर आपने देखा होगा कि अगर घर में बच्चा बीेमार हो जाता है तो हम सब यही सोचते हैं कि हमारे बच्चे को नजर लग गई है। देखा जाए तो यह एक तरह का अंधविश्वास ही तो है कि नजर लगने से भला कोई बीमार हुआ है।

आजकल लोगों में काला धागा बांधने का चलन बढ़ता जा रहा है. हिंदू मान्यता के अनुसार काला धागा पहनने से व्यक्ति हर तरह की नकारात्मक ऊर्जा से बच जाता है. शायद तभी देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी हाथ में काला धागा पहने हुए दिखाई देते हैं. रंगों का हमारे जीवन पर खासा प्रभाव होता है. अगर रंग शुभ हो तो उससे भाग्य उदय होता है. लेकिन अगर वही रंग अगर किसी व्यक्त‍ि के लिए अशुभ है तो वह उसके लिए दुर्भाग्य का कारण भी बन सकता है. हमारे स्वास्थ्य, चिंतन, आचार-विचार आदि पर रंगों का गहरा प्रभाव पड़ता है.

आमतौर पर काला रंग हमेशा अशुभ माना जाता है. यही वजह है कि शादी हो या कोई शुभ काम, काले रंग से लोग दूर ही रहते हैं. लेकिन हिंदू मान्यताओं के अनुसार काला धागा कई नकारात्मक प्रभावों से बचाता भी है. ऐसी मान्यता है कि काले रंग का प्रयोग करने से राहू अधिक प्रभावशाली हो जाता है. जिसकी वजह से जीवन में कई समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं काले रंग का धागा आपके जीवन से संकटों को दूर करने के साथ आपकी आर्थ‍िक हालत भी अच्छी कर सकता है. आइए जानते हैं मनचाहा फल पाने के लिए काले धागे को कैसे ग्रहण करना चाहिए.

हिंदू मान्यता के अनुसार काला धागा शनि और राहु से संबंधित माना गया है. इसका संबंध भैरो से भी माना जाता है. काले रंग के धागों का प्रयोग बुरी नजर और नकारात्मक ऊर्जा से बचने के लिए किया जाता है. कलाई पर धागा बांधने के लिए आपको शनिवार का दिन चुनना चाहिेए. काला धागा सीधे हाथ की कलाई में बांधने से शरीर में मौजूद नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती है. लाख प्रयास के बाद भी न बनने वाले काम बनने लगते हैं और सफलता के दरवाजे भी खुल जाते हैं. अगर आप काला धागा घर के दरवाजे पर बांधते हैं या काला टिका लगाते हैं तो ऐसा करते समय आप अपने घर को बुरी शक्तियों के प्रभाव से बचा सकते हैं. धागे को तिजोरी पर बांधने से वो कभी खाली नहीं रहती और धन में भी वृद्धि होती है.

आपने बहुत बार इस बात पर ध्यान दिया होगा कि जब भी बच्चों को ज्यादा नजर लगती है तो कहा जाता है कि बच्चों को बुरी नजर या चीजों से बचाने के लिए उन्हें काले रंग की कोर्ई भी चीज पहनना देनी चाहिए। हम ऐसा करते हैं तो यह हमारा विश्वास होता है। ऐसा इसलिए बोला जाता है कि किसी की नकारात्मक ऊर्जा हमारे आस पास होती है तो उसे दूर करने केलिए काले रंग की चीज का ही इस्तेमाल करना अच्छा होता है। ऐसा कहा जाता है कि काला धागा पहनेने से , काला तिल, काला टीका लगाने से, काली मिर्ची का प्रयोग करने से बुरी नजर दूर हो जाती हैै। मान्यता के मुताबिक बड़े हों या फिर छोटे दोनों को ही हाथ में काला धागा पहनना चाहिए इससे बुरी नजर नहीं लगती है। धर्मशास्त्र के मुताबिक काले धागे को हाथ में बांधने से बुरी नजर नहीं लगती है। हाथ में या फिर गले में काला धागा पहनने से लोगों की बुरी नजर हम तक नहीं पहुंचती है और हम उनकी बुरी नजर से बच जाते हैं।

बाजार से एक रेशमी या सूती काले रंग का धागा ले कर आयें। फिर किसी भी मंगल या शनिवार के दिन इस धागे में नौ गांठ बांध कर हनुमान जी के मंदिर में उनकी मूर्ती के पैर में रखा सिंदूर इस धागे पर लगा दें। उसके बाद इस धागे को अपने मुख्य द्वार या फिर पैसों की तिजोरी पर बांध दें। कुछ ही दिनों में आप देखेंगे कि मां लक्ष्मी की कृपा आप पर बरसनी शुरू हो गयी है। धीरे-धीरे आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होने लगेगी। विज्ञान की माने तो ऐसा कहा जाता है कि काले रंग ऊष्मा को सोख लेता है। ऐसा कहा जाता है कि काला रंग का धागा पहनने से बुरी हवा और बुरी नजर दोनों ही अवशोषित होती हैं। काले धागे से शरीर पर किसी भी तरह का दुष्प्रभाव नहीं होता है। काला धागा हमें सुरक्षा कवच के रूप के सुरक्षा प्रदान करता है। किसी को शनि दोष है तो उसको काला धागा या फिर काले रंग का वस्त्र पहनना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति शनि के प्रकोप से बच सकता है।

About Daisy

Check Also

इन अद्भूत पीले चावल के उपायों से दूर करें घर की गरीबी

वैसे तो चावल का रंग सफेद होता है, लेकिन केसर या हल्दी में रंगने के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *